शादी में क्यों पहना जाता है मांग टिका, जाने हिंदू धर्म में इसके महत्त्व से जुड़ी जानकारिया


हिंदू धर्म में मांग ठीके का बहुत ज्यादा महत्त्व माना गया है। इसे सौभाग्य की निशानी के नाम से जाना जाता है। यह टीका सोलह श्रृंगार में विशेष महत्व रखता है। महिला के श्रृंगार को पति और खुशहाल परिवारिक से जोड़कर रखता है। शादी में दुल्हन मांग टिका पहनती है। आजकल टीका पहनने का फैशन बहुत ज्यादा चल रहा है। आप इसमें सुन्दर – सुन्दर डिजाइन बहुत आसानी से खरीद सकती है। आप भी अपने लुक को सुन्दर बनाना चाहती है ,तो देखे इन डिजाइनों को,

मांग टिका पहनने का महत्त्व

यह भी पढ़े –शादी के फक्शन में दिखना चाहती है खूबसूरत तो इस तरह से करे गजरा स्टाइल, देखे इसके बारे में

हिंदू धर्म में मांग टिका शादीशुदा महिला ही पहनती है। महिलाएं मांग के बीच में टीका पहना करती है। वेदों में लिख गया है कि महिलाएं जब श्रृगांर करें तो उन्हें सबसे पहले मांग टीका धारण करना चाहिए. इसके कारन यह है की यह पती की लम्बी उम्र की निशानी होती है।

कैसे पहनते है मांग टीका

मांग टीका माथे पर लटकता हुआ दोनों भवों के बीच तक पहुंच जाता है। इसे मांग के बीच मर ही पहना जाता है। टीका को सिंदूर का रक्षक का प्रतिक मन गया है। इसलिए सुहागिन महिलाओं को मांग में टीका पहनना पसंद करती है।

सोहल श्रृंगार में मांग टिका

यह भी पढ़े –आप भी बनाना चाहती है स्किन को चमकदार ग्लोइंग तो करे नारियल तेल का इस्तेमाल, जाने इसके स्किन पर फायदे

विवाह के समय दुल्हन के लिए ससुराल से जो गहने देते है। उनमें मांग टीका भी दिया जाता है। ये सुहाग की निशानी माना जाता है. मांग टीका दुल्हन की सुंदरता पर चार चाँद लगा देता है।


Leave a Comment